Atma Madhepura
Welcome to Atma Madhepura portal

Programmes

(क) राज्य के बाहर कृषकों का प्रशिक्षण

एस0आर0ई0पी0 ( Strategic Research & Extension Plan ) में चिन्हित समस्याओं पर आधारित विषय पर राज्य के बाहर विभिन्न संस्थाओं में प्रशिक्षण हेतु आत्मा, मधेपुरा द्वारा जिले के कृषकों को भेजा जाता हैं।

B2 (ख) राज्य के अन्दर कृषकों का प्रशिक्षण
एस0आर0ई0पी0 ( Strategic Research & Extension Plan ) में चिन्हित समस्याओं पर आधारित विषय पर बिहार राज्य के अन्दर विभिन्न संस्थाओं में प्रशिक्षण हेतु आत्मा, मधेपुरा द्वारा जिले के कृषकों को भेजा जाता हैं।

B2 (ग) जिले के अन्दर कृषकों का प्रशिक्षण
एस0 आर0 ई0 पी0 ( Strategic Research & Extension Plan ) में चिन्हित समस्याओं पर आधारित विषय पर आत्मा, मधेपुरा द्वारा जिले के कृषकों का प्रशिक्षण जिले के अन्दर करवाया जाता हैं।

उपरोक्त सभी प्रशिक्षणों में भाग लेने वाले कृषकों से संभावित प्रति कृषक व्यय का 5 प्रतिशत सहयोग राशि अनुसूचित जाति/जनजाति व महिला कृषक प्रशिक्षणाथियों से, तथा 10 प्रतिशत सहयोग राषि अन्य श्रेणी के कृषक प्रशिक्षणाथियों से ली जाती हैं।

कृषकों के चयन में आत्मा से निबंधित समूह के सदस्यों को प्राथमिकता दी जाती है तथा प्रखंडवार लक्ष्य के अनुरूप आरक्षण श्रेणीवार कृषकों का चयन किया जाता हैं।

प्रशिक्षणों में भाग लेने हेतु आवेदन संबंधित प्रखंड कृषि पदाधिकारी/विषय वस्तु विशेषज्ञ के माध्यम से परियोजना निदेषक, आत्मा को भेजी जा सकती हैं। वेबसाईट के माध्यम से भी ऑन लाइन आवेदन भेजा जा सकता हैं।

B3 (क) कृषि क्षेत्र:-

एस0आर0ई0पी0 ( Strategic Research & Extension Plan )में चिन्हित समस्याओं पर कृषि क्षेत्र में एक एकड़ भूमि पर प्रत्यक्षण कराया जाता हैं। इस प्रत्यक्षण पर अधिकतम 4000/-(चार हजार रू0 मात्र) प्रति प्रत्यक्षण व्यय करने का प्रावधान हैं।
प्रत्यक्षण में भाग लेने वाले कृषकों से संभावित प्रति कृषक व्यय का 5 प्रतिशत सहयोग राशि अनुसूचित जाति/जन जाति व महिला कृषकों से तथा 10 प्रतिशत सहयोग राशि अन्य श्रेणी के कृषकों से ली जाती हैं।
कृषकों के चयन में आत्मा से निबांधित समूह के सदस्यों को प्राथमिकता दी जाती हैं तथा प्रखंडवार लक्ष्य के अनुरूप, आरक्षण श्रेणीवार कृषकों का चयन किया जाता हैं।

B3 (ख) सम्बद्ध क्षेत्र:-

एस0आर0ई0पी0 ( Strategic Research & Extension Plan )में चिन्हित कृषि के अतिरिक्त सम्बद्ध
क्षेत्र जैसे- पषुपालन, डेयरी, मुर्गीपालन, मत्स्य पालन आदि की समस्याओं पर आधारित यह प्रत्यक्षण कराया जाता हैं। इस प्रत्यक्षण पर अधिकतम 4000/-(चार हजार रू0 मात्र) प्रति प्रत्यक्षण व्यय करने का प्रावधान हैं।
प्रत्यक्षण में भाग लेने वाले कृषकों से संभावित प्रति कृषक व्यय का 5 प्रतिषत सहयोग राशि अनुसूचित जाति/जन जाति व महिला कृषकों से तथा 10 प्रतिशत सहयोग राशि अन्य श्रेणी के कृषकों से ली जाती हैं।
कृषकों के चयन में आत्मा से निबांधित समूह के सदस्यों को प्राथमिकता दी जाती हैं तथा प्रखंडवार लक्ष्य के अनुरूप, आरक्षण श्रेणीवार कृषकों का चयन किया जाता हैं।

B3 (ग) पदर्शन क्षेत्र पर किसान से किसानों तक तकनीकी प्रसार:-

इस कार्यक्रम में पदर्शन आयोजित करने वाले किसान, गाॅव के अन्य किसानों को फसल की विभिन्न अवस्थाओं मे ंप्रदर्शन के संबंध में जानकारी देते हैं।

B4 (क) राज्य के बाहर परिभ्रमण ( Exposure Visit )

एस0 आर0 ई0 पी0 ( Strategic Research & Extension Plan )में चिन्हित समस्याओं पर आधारित विषय पर राज्य के बाहर विभिन्न स्थानों पर परिभ्रमण हेतु आत्मा, मधेपुरा द्वारा जिले के कृषकों को भेजा जाता हैं।

B4 (ख) राज्य के अन्दर परिभ्रमण ( Exposure Visit )

एस0 आर0 ई0 पी0 ( Strategic Research & Extension Plan ) में चिन्हित समस्याओं पर आधारित विषय पर राज्य के अन्दर विभिन्न स्थानों पर परिभ्रमण हेतु आत्मा, मधेपुरा द्वारा जिले के कृषकों को भेजा जाता हैं।

B4 (ग) जिले के अन्दर परिभ्रमण ( Exposure Visit )

एस0 आर0 ई0 पी0 ( Strategic Research & Extension Plan ) में चिन्हित समस्याओं पर आधारित विषय पर आत्मा, मधेपुरा द्वारा जिले के कृषकों को जिले के अन्दर परिभ्रमण करवाया जाता हैं।
परिभ्रमण में भाग लेने वाले कृषकों से संभावित प्रतिष्कृषक व्यय का 5 प्रतिषत सहयोग राषि अनुसूचित जाति/जनजाति व महिला कृषक प्रशिक्षणार्थियों से, तथा 10 प्रतिषत सहयोग राषि अन्य श्रेणी के कृषक प्रषिक्षणार्थियों से ली जाती हैं।

कृषकों के चयन में आत्मा से निबंधित समूह के सदस्यों को प्राथमिकता दी जाती है तथा प्रखंडवार लक्ष्य के अनुरूप आरक्षण श्रेणीवार कृषकों का चयन किया जाता हैं।

परिभ्रमण में भाग लेने हेतु आवेदन संबंधित प्रखंड कृषि पदाधिकारी/विषय वस्तु विषेषज्ञ के माध्यम से परियोजना निदेषक, आत्मा को भेजी जा सकती हैं। वेबसाईट के माध्यम से भी आॅन लाईन आवेदन भेजा जा सकता हैं।

B5 (क) क्षमता निर्माण:-

10 से 20 कृषकों के समूह का निर्माण करवा कर उनका क्षमता सम्बर्द्धन करना।

कृषक हितार्थ समूह के बारे में विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें ►

B5 (ख) सीड मनी/रिवाल्विंग फण्ड:-

लक्ष्य के अनुरूप समूह का चयन कर उन्हें 10000/-(दस हजार रू0 मात्र) की राषि सीड मनी/रिवाल्ंिवग फण्ड के रूप में देने का प्रावधान हैं जिससे समूह अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूती प्रदान कर सके। समूह के आत्म निर्भर हो जाने पर यह राषि वापस ले ली जाएगी। यह राषि उन्हीं समूहों को दि जाएगी जिन्हें पूर्व में ऐसी कोई राषि या सहायता नहीं मिली हो तथा जिनके सदस्य आर्थिक रूप से कमजोर हों।

आत्मा, मधेपुरा से निबंधित सर्वश्रेष्ठ 5 संगठित समूहों को 20000/- (बीस हजार रू0 मात्र) की राशि प्रत्येक वित्तिय वर्ष में पुरस्कार स्वरूप देने का प्रावधान हैं।

आत्मा, मधेपुरा जिला स्तर पर प्रदर्शनी व किसान मेला का समय-समय पर आयोजन करती हैं।

कृषि व सम्बद्ध विभागों से सम्बांधित तकनीकी जानकारी से संबंधित प्रसार प्रचार पुस्तिका का प्रकाषन कराया जाता हैं।

इसके अतिरिक्त सरकार की योजनाओं एवं कार्यक्रम की जानकारी किसानों तक पहुँचाने के उदे्श्य से फ्लेक्सी बोर्ड/बैनर एवं अन्य प्रचार सामग्री का निर्माण करवाकर सार्वजनिक स्थानों जैसे- कृषि कार्यालय, समाहरणालय, प्रखंड मुख्यालय आदि पर लगाया जाता हैं।

आत्मा मधेपुरा द्वारा बनवाए गये कुछ महत्वपूर्ण फ़्लेक्सी बैनर देखने के लिए यह क्लिक करें ►

कृषि एवं सम्बद्ध क्षेत्र की समस्याओं के सामाधान/सफलता की कहानी/किसान सूचना एवं सलाहकार केन्द्र की कार्य प्रणाली/सवेश्रेष्ठ कृषक हितार्थ समूह/ महत्त्वपूर्ण फसलों की पैकेज प्रणाली इत्यादि विषय पर विडियो सी0डी0 का निर्माण कराया जाता हैं।

खरीफ व रब्बी के मौसम में कृषक वैज्ञानिक मिलन कार्यक्रम आयोजित कराया जाता हैं जिसमें 25 कृषक भाग लेते हैं। यह कार्यक्रम दो दिनों का होता हैं एवं प्रत्येक दिन कम से कम दो वैज्ञानिक भाग लेते हैं।

खरीफ व रब्बी मौसम में प्रखंड स्तर पर एक दिवसीय कृषक गोष्ठी का आयोजन किया जाता हैं जिसमें अनुसंधान प्रसार एवं तकनीकी पदाधिकारी तथा कृषक भाग लेते हैं।

एस0आर0ई0पी0 ( Strategic Research & Extension Plan ) एवं कृषकों से बात चीत के आधार पर किसी तकनीक का टेस्ंिटग, बेलीडेशन या रिफाइनमेंट आदि कार्य हेतु कृषि विज्ञान केन्द्र, पुपरी द्वारा अल्पावधि अनुसंधान कार्य सम्पन्न कराया जाता हैं।

खरीफ व रब्बी मौसम में प्रति प्रखंड दो कृषक पाठशाला का आयोजन आत्मा मधेपुरा द्वारा कराया जाता हैं। यह पाठशाला ‘‘करके सीखने व देखकर विष्वास करने’’ के सिद्धांत पर कार्य करता हैं।

Genral Information

News Calender

November 2022
M T W T F S S
 123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
282930